20+ Highly Motivational & Inspirational Whatsapp Status/Quotes 2016

Today I am sharing Best Motivational, Inspirational Status/Quotes for whatsapp & Facebook. This Motivational Sayings, words, Quotes in Hindi and English will help to succes. I am sure that your friends, family and relatives will be motivated after reading these Whatsapp status 2016




साहसी बनो . जोखिम उठाओ . अनुभव का कोई विकल्प नहीं है.


अनुभव प्राप्त करने से आसान कुछ नहीं है और उसे प्रयोग में लाने से कठिन कुछ नहीं है.


अनुभव विचार की संतान है , और विचार क्रिया की .


आकाश ही सीमा है. आप दो बार एक ही अनुभव नहीं पा सकते !!


हम प्रत्येक अपने सभी अनुभवों के के लिए खुद जिम्मेदार हैं.


ऊँचा उठना है तो, अपने अंदर के अहंकार को निकालकर, स्वयं को हल्का कीजिये क्योंकि ऊँचा वही उठता है जो हल्का होता है !!!


आलस्य से बढ़कर अधिक घातक और अधिक समीपवर्ती शत्रु दूसरा नहीं।


ये राहें ले ही जायेंगी मंजिल तक हौसला रख । कभी सुना है कि अँधेरे ने सवेरा होने न दिया


वास्तविक जीवन में अनुभव के धागों से बुना ज्ञान ही वास्तविक ज्ञान है।


तू होश में थी फिर भी हमें पहचान न पायी, एक हम है कि पी कर भी तेरा नाम लेते रहे।


आदमी अपना दुख तो किसी तरह बर्दाश्त कर लेता है, लेकिन उससे दूसरों का सुख बर्दाश्त नही होता।


फासला रख के भी क्या हासिल हुआ आज भी मैं उसका ही कहलाता हूँ !


मौन एक साधना है, और सोच समझ कर बोलना एक कला है !!!


सपने के सच होने की सम्भावना ही आपके जीवन को रोचक बनाती है ।


जिस दिन आपने अपनी जिन्दगी को खुलकर जी लिया वही दिन आपका है, बाकी तो सिर्फ कैलेंडर की तारीखें हैं !


किसी को अपना बनाने के लिये हमारी सारी खूबियाँ भी कम पड़ जाती हैं जबकि किसी को खोने के लिए एक कमी ही काफी हैं !


इंसान को इंसान धोखा नहीं देता है, बल्कि वो उम्मीदें धोखा दे जाती हैं जो वो दूसरों से रखता है।


हमेशा दिमाग खुला और दिल को दयालु रखें।


एक बेहतर पिता नहीं बताता की कैसे जीना है, बल्कि वह उस तरह से जीता है और दिखाता है कैसे जीना है।


ज्ञानयोगी की तरह सोचें, कर्मयोगी की तरह पुरुषार्थ करें, और भक्तियोगी की तरह सहृदयता उभारें।


अपने को परिस्थितियों का ग़ुलाम कभी न समझो । तुम स्वयं अपने भाग्य के विधाता हो


नींद तो बचपन में आती थी, अब तो बस थक कर खो जाते हैं।


यदि आपके सौ मित्र भी हैं तो भी कम हैं उन्हें निरंतर और बढ़ाओ। यदि आपका एक शत्रु है, तो बहुत ज्यादा है उसे और घटाओ।


मत करना अभिमान खुद पर ऐ इन्सान ! तेरे और मेरे जैसे कितनो को ईश्वर ने माटी से बनाकर माटी में मिला दिया !


अपना विश्वास और उम्मीद जिन्दा रखिये, और आपके डर लुप्त हो जायेंगे।

No comments:

Post a Comment